श्रीनगर-नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष FAROOOQE ABDULLAH  ने अपने ताजा बयान में भारतीय वायुसेना की पाकिस्तान पर की गई कार्रवाई पर ही सवाल उठा दिए हैं! जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में भ्रम फैलाया जा रहा है कि हमने पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था!

 

 

 

 

अमेरिकी पत्रिका ने स्पष्ट कर दिया है कि भारत के लोगों को गलत सूचना दी गई है! उन्होंने कहा कि एक अमेरिकी पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ का कहना है कि उसके देश की ओर से की गई गिनती में PAKISTAAN का कोई भी F-16 है! यहां गौर करने वाली बात यह है कि एफ-16 गिराए जाने वाली बात की पुष्टि भारतीय वायुसेना ने की है!

 

 

 

LOKSABHA ELECTION 2019- के लिए वोट मांगने पहुंचे फारुख ने कहा, ‘आज ही अमेरिका की सरकार ने बयान दिया है कि जितने भी F-16 हैं पाकिस्तान के पास वह बिल्कुल ठीक हैं! एक भी नहीं गिरा है! झूठ की भी बुनियाद होती है पीएम साहब! कब तक झूठ बोलते रहोगे! क्यों झूठ बोलते हो?’

 

 

 

 

फारुख अब्दुल्ला ने कहा, ‘हम ये बर्दाश्त नहीं कर सकते इस तरह रहना! रोज यहां मौतें हो रही हैं! जब करगिल की लड़ाई हुई तब सड़कें नहीं बंद हुईं! आज कौन सी जंग है जो इन्होंने दो दिन के लिये सड़कें बंद कर दी! क्या हम इनके गुलाम हैं! क्या जम्मू कश्मीर गुलाम है! हम न गुलाम थे और इंशअल्लाह न कभी रहेंगे! उन्होंने कहा, ‘हमें डराओ मत, ये न समझो की तुम हमारे खुदा हो! न तुम हमारे रज़ाक थे न होंगे!हमारा रजाक वो है!

 

 

 

अमेरिकी पत्रिका ने क्या कहा-
अमेरिकी पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ का दावा है कि गिनती में पाकिस्तान का कोई भी एफ-16 लड़ाकू विमान लापता नहीं पाया गया है और उनमें से किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचा है जो भारत के उन दावों को खारिज करती है कि वायु सेना ने 27 फरवरी को हवाई संघर्ष के दौरान एक पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था, हालांकि भारतीय वायुसेना अपने दावे पर कायम है और उसने शुक्रवार को कहा कि उसके पास निर्णायक साक्ष्य हैं!

 

 

 

 

स्थिति के बारे में सीधी जानकारी रखने वाले दो वरिष्ठ अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने पत्रिका को बताया कि अमेरिकी कर्मियों ने हाल ही में पाकिस्तान के एफ-16 विमानों की गणना की और पाया कि सभी विमान मौजूद हैं!

 

 

 

अभिनंदन ने F-16 को मार गिराया-
खबर में शुक्रवार को कहा गया, ‘यह खुलासा सीधे तौर पर भारतीय वायुसेना के अधिकारियों के उन दावों के विपरीत है, जिसमें उन्होंने कहा था कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने एक पाकिस्तानी एफ-16 विमान को मार गिराया था और इसके बाद उनका विमान एक पाकिस्तानी मिसाइल की जद में आ गया था!

 

 

 

 

भारत ने मिग-21 से किया F-16 का शिकार-
खबर में कहा गया, ‘यह संभव है कि युद्ध के जोश में पुराने मिग-21 बाइसन विमान को उड़ा रहे वर्धमान ने पाकिस्तानी एफ-16 पर निशाना साधा हो, फायर किया हो और उन्हें वास्तव में यह लगा हो कि उन्होंने विमान को मार गिराया!

 

 

 

खबर में कहा गया कि साक्ष्यों से यह संकेत मिला है कि भारतीय वायु सेना के साथ हवाई संघर्ष में पाकिस्तानी एफ-16 शामिल थे और सिर्फ एफ-16 ही अमेरिका में निर्मित एआईएम-120 हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलों को दाग सकता है!

 

 

 

 

 

भारतीय वायुसेना ने पत्रिका के दावों को शुक्रवार को खारिज करते हुए एक बार फिर कहा कि उसने 27 फरवरी को हुई हवाई झड़प के दौरान पाकिस्तानी वायुसेना के एक एफ-16 विमान को मार गिराया था!

 

 

 

 

एयरफोर्स का दावा F16 को मार गिराया गया-
नई दिल्ली में दिये गए एक बयान में वायुसेना ने कहा, ‘नौशेरा सेक्टर में हवाई झड़प के दौरान भारतीय वायुसेना के मिग 21 बाइसन विमान ने एक एफ-16 को मार गिराया था!’

 

 

 

 

भारतीय वायु सेना के सूत्रों ने यह भी कहा कि उसके पास वायरलेस पर सुनी गई बातचीत, सिग्नलों और एयरबॉर्न वार्निंग एंड कंट्रोल सिस्टम (अवाक्स) और इलेक्ट्रॉनिक हस्ताक्षरों के साथ ही यह साबित करने के लिये निर्णायक “परिस्थितिजन्य साक्ष्य” हैं कि हवाई संघर्ष के दौरान एफ-16 विमान को मार गिराया गया!

 

 

 

सूत्रों ने कहा कि मिग 21 बाइसन के साथ झड़प में शामिल एफ-16 विमान के इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल अचानक बंद हो गए जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि मारे जाने के बाद वह गिर गया था!

 

 

 

 

वायुसेना के सूत्रों ने कहा कि रेडियो पर सुनी गई बातचीत से यह नजर आता है कि हवाई संघर्ष के दौरान दो पायलट विमान से बाहर कूदे थे और उनमें से एक पाकिस्तान के एक अस्पताल में भर्ती था!

 

 

 

जब यह वाकया हुआ था तब भारत ने अमेरिकी सरकार से कहा था कि वह इस बात की जांच करे कि क्या पाकिस्तान ने विदेशी सैन्य बिक्री करार का उल्लंघन कर भारत के खिलाफ एफ-16 का इस्तेमाल किया!

 

 

 

 

भारतीय वायुसेना ने 28 फरवरी को पाकिस्तानी एफ-16 द्वारा दागी गई एएमआरएएएम मिसाइल के टुकड़े साक्ष्य के तौर पर दिखाए थे जो “निर्णायक” रूप से इस बात की पुष्टि करते हैं कि पाकिस्तान ने कश्मीर में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के लिए हवाई हमले के दौरान अमेरिका निर्मित एफ-16 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल किया था!

 

 

 

इस बीच इस्लामाबाद में पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार को भारत से मांग की कि वह दोनों देशों के बीच 27 फरवरी को हुए हवाई संघर्ष में “वास्तविक नुकसान” को लेकर सच बोले!

LEAVE A REPLY